ALL Image PP-News BADA Herbal Company EPI PARTY IBBS MORCHA LIC & Job's SYSTEM
“ संक्रमण से बचाव ही उपचार , कोरोना वाइरस से बचने के लिए आयुर्वेद औषधियों का उपयोग करें । : डॉ दीपक ठाकुर आयुर्वेद विशेषज्ञ
April 3, 2020 • Mr. Pan singh Argal (Dr. PS Bauddh)

“ संक्रमण से बचाव ही उपचार
विश्व स्वास्थ संघठन द्वारा  कोरोना वायरस को  एक महामारी घोषित किया गया है जो पुरे विश्व में अत्यंत तेजी से फ़ैल गया है, तथा भारत में भी यह अत्यंत  तेजी से फ़ैल रहा है |
अभी तक ये बात सामने आई है की इस वायरस का संक्रमण बच्चो, बुजुर्गो और कमजोर इम्यूनिटी पावर वालो पर जल्दी अटैक करता है वही मौसम मे आ रहे बदलाव जहा एक और बीमारियो को बढ़ावा दे रहा है, वही ये इम्यूनिटी पावर यानि प्रतिरोधक क्षमता को भी कमजोर करता है जिसके कारण लोग कोरोना वायरस की चपेट मे जल्दी आ जाते है| 
कोरोना वायरस  से बचने के लिए शहरवासी एवं ग्रामवासी को अब अपनी इम्यूनिटी पावर पर ध्यान देना चाहिए, प्रतिरोधक क्षमता विकसित होगी तो कोरोना वायरस तथा अन्य कई बड़ी बीमारियो और इन्फ़ैकशन से भी शरीर खुद-ब- खुद अपना बचाव कर लेता है| इम्यूनिटी पावर को मजबूत करने के लिए एंटी ऑक्सीडेंट, एंटीएलर्जीक की सबसे ज्यादा जरूरी होता है कमजोर इम्यूनिटी पावर बड़ाने के लिए आयुर्वेद मे भी अनेक औषधीया बताई गई है जैसे- गुडूची, तुलसी, वासा, हल्दी, आवला, आश्वगंधा, शतावरी, त्रिफला आदि का प्रयोग करना  चाहिए |
आयुर्वेद में कहा गया  है की –
 प्रयोजनं चास्य स्वस्थस्य स्वास्थस्यरक्षणमातुरस्य विकार प्रशमनं (च सु १/२४)  ||
जो व्यक्ति  स्वस्थ है उसको अपने स्वास्थ की रक्षा करना चाहिए, अर्थात स्वस्थ रहने (कोरोना वायरस  से बचाव) के लिए शासन- प्रशासन के नियमो का पालन करते हुए- जितना हो सके घर पर रहे,  भीड़ से बचे या लोगो से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाकर रहे , अपसी संपर्क से बचे, अपने हाथो को साबुन से अच्छी तरह धोये, खासते समय या छिकते समय रुमाल या टिशू पेपर का प्रयोग करे| 
          जैसे की आप जानते है की COVID-19 (कोरोना वायरस) श्ववन तंत्र को प्रभावित करता है तथा अगर  सुखी ख़ासी, बुखार, सांस लेने मे कठिनाई इत्यादि लक्षण आते है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाए |
                 एक गंभीर समस्या यह भी है की जो लोग प्रवासी है, मजदुर  एवं छात्र है जो अभी तक शहर में रह रहे थे लेकिन  ‘लॉक डाउन’ के चलते अपने घर एवं गाव की ओर पैदल, बस या निजी वाहन से अपने गाव की ओर निकल चुके है जिससे इनमे कोरोना वायरस के फ़ैलने का खतरा और ज्यादा बढ  जाता है तथा गाव में निवासरत लोगो में अगर ये  कोरोना वायरस पहुचता है तो यह अति तेज गति से फैलेगा | इस  महामारी के संक्रमण के बचाव के लिए  गाँव के लोगो को लॉक डाउन के शासन प्रशासन के नियमो का सख्ती से  पालन करना चाहिए  अन्यथा इस महामारी से गाँव के गाँव चपेट में आ जाएगे |