ALL Image PP-News BADA Herbal Company EPI PARTY IBBS MORCHA LIC & Job's SYSTEM
आजादी के पहले और बाद में शूद्रों के साथ क्या हुआ जाने
November 22, 2019 • Mr. Pan singh Argal (Dr. PS Bauddh)

● गुलामी के पहले शुद्रो को धर्म से दूर रखा गया और आजादी के बाद धर्म से चिपका दिया गया।

●26 जनवरी 1950 से पहले रामायण, गीता, वेद, पुराण, महाभारत जैसी पुस्तके ब्राह्मण ही पढते थे।

●26 जनवरी 1950 के बाद संबिधान लागू होते ही 
वह सारी पुस्तके ब्राह्मणो ने OBC, SC, ST को थमा दी और खुद *संविधान* पढ़ने लगे।

●संविधान वो आज भी पढ़ रहे है और हमारे लोगो ने 
संविधान उठाकर देखा तक नहीं।

●वे वकील, जज और नेता बन गये और हमारे समाज के लोग भक्त बन गये।

■क्या ये बिचारणीय प्रश्न नहीं है ?■

●इसलिये आप सभी भारत देश के नागरिकों से आनुरोध हैं कि संविधान को पढ़ो और आगे बढो।

●गीता रामयण पढने से आप IAS, IPS, PCS, MBBS, इंजीनियर नहीं बन सकते हो इसलिये अब समय आ गया है कि इस पाखण्डवाद से बाहर निकलने का ...

●वक्क्त रहते संभल जाओ, नही तो गुलामी की बेड़िया तुम्हारा इन्तजार कर रही है, फिर समय नहीं मिलेगा।

जय भीम जय भारत नमो बुद्धाय