ALL Image PP-News BADA Herbal Company EPI PARTY IBBS MORCHA LIC & Job's SYSTEM
कोरोना संकट से बचाव के लिये दस हजार मास्क के रूप गमछा बांटे ब्लाक में प्रतिज्ञा  समाज कल्याण समिति  इस समय अपने क्षेत्र को समर्पित भाव से दे रहा सेवाएं 
May 17, 2020 • Mr. Pan singh Argal (Dr. PS Bauddh)

कोरोना संकट से बचाव के लिये दस हजार मास्क के रूप गमछा बांटे ब्लाक में प्रतिज्ञा  समाज कल्याण समिति  इस समय अपने क्षेत्र को समर्पित भाव से दे रहा सेवाएं
पोरसा,,,,,,,, ----नागाजी की तपोभूमि के ग्राम शंकरपुरा मैं जन्मे और जो वर्तमान में भोपाल में रहकर न केवल भोपाल बल्कि संपूर्ण मध्यप्रदेश में निशुल्क शिक्षा का उजियारा फैला रहे अनिल कुमार उपाध्याय  इस संकट के दौर में अपने क्षेत्र के साथ डटकर खड़े हुए हैं और क्षेत्रवासियों को कोरोना संकट से बचने के उपाय बताने के साथ साथ क्षेत्र के लोगों को मास्को की जगह गमछा अर्थात साफी का वितरण किया गया यह समिति पिछले 15 वर्ष से लगातार अपने क्षेत्रवासियों की सेवा  कर रही  हैं साथ ही कोरोना के संकट में दिन रात अपनी सेवाएं दे रहे समस्त शासकीय विभाग एवं समाजसेवियों को सहयोग प्रदान कर एवं उन पर पुष्प वर्षा कर उनका प्रोत्साहन बढ़ा रहे हैं अनिल कुमार उपाध्याय बचपन से ही सेवा कार्यों को समर्पित है मैं आप सभी को बताना चाहता हूं कि वर्ष 2011 से 2014 तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पूर्णकालिक कार्यकर्ता रहे वर्तमान में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के धर्म जागरण मंच में क्रांति शाह परियोजना प्रमुख के दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं आपको गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड आवाज से भी सम्मानित किया गया  साथ ही पूर्व में आपको National literacy सम्मान के साथ-साथ 65 विभिन्न सामानों से भी सम्मानित किया गया आपने विभिन्न पुस्तकों का लेखन भी किया है और लेखन की राशि संकट के इस काल में देश को समर्पित की और लगभग 10000 गमछा का लक्ष्य लेते हुए दिन रात अपने क्षेत्रवासियों को
 बांटने में लगे हैं।।। उपाध्याय जी का कहना है कि देश हमें देता है सब कुछ हम भी तो कुछ देना सीखे।।।। मेरी पहचान मेरा क्षेत्र मेरा देश है संकट केशकाल में मैं अपने क्षेत्र अपने देश को कैसे भूल सकता हूं जब तक शरीर में प्राण हैं यह शरीर राष्ट्र की सेवा में समर्पित है मैं निरंतर अपनी सेवाएं अपने क्षेत्र मैं प्रदेश और अपने राष्ट्र को देता रहूंगा अभी मेरा लक्ष्य 10000 घंटे बांटना है यह कार्य निरंतर चल रहा है मेरे इस कार्य में मेरे कई मित्र जैसे वासुदेव  धर्मेंद्र अशोक लोकेंद्र आदि बंधू मेरे साथ कंधे से कंधा लगाकर दिन रात सेवा भाव में लगे है