ALL Image PP-News BADA Herbal Company EPI PARTY IBBS MORCHA LIC & Job's SYSTEM
पंडितो से शादी करवाना अपराध
May 5, 2020 • Mr. Pan singh Argal (Dr. PS Bauddh)

🔥37वां एपिसोड,सुबह,दिनांक 05-05-2020🔥
*🔥पंडितो से शादी करवाना अपराध है🔥* 
    In 1819, by the Act 7, the Brahmins prohibited the purification of the women.  (On the marriage of the Shudras, the bride had to give her physical service at the house of Brahmin for at least three nights without going to her mother's house.)
   ब्रिटिश सरकार ने 1819 में अधिनियम 7 द्वारा ब्राह्मणों द्वारा शुद्र स्त्रियों के शुद्धिकरण पर रोक लगाई।   (शुद्रों की शादी होने पर दुल्हन को अपने यानि दूल्हे के घर न जाकर कम से कम तीन रात ब्राह्मण के घर शारीरिक सेवा देनी पड़ती थी।)
     इस विषय पर एक पिक्चर "अंकुर" बन चुकी है। जिसमें सबाना आजमी ने दुल्हन की भूमिका निभाई है।
   यही नही आज भी शादी के वक्त  बधू से सातो बचन जो दिलाए जाते है, उसमे सबसे पहला और मुख्य वचन यह होता है।
   पहला वचन--मै अपने पुरोहित की उनकी इच्छा अनुसार दान दक्षिणा, सेवा सत्कार करती रहूंगी, उसमे पतिदेव जी का कोई हस्तक्षेप नही होगा। इस वचन को लेकर शादी के समय कयी बुद्धिजीवी लोगों द्वारा विरोध जताने पर अब इस वचन को समझदार पंडितों ने निकाल दिया है। 
   मैंने कयी बार शादी के समय ऐसे वचनों का और नियमों का विरोध किया है। कयी बार माहौल खराब होने की डर से मैं खुद शादी के समय मंडप में, आग्रह करने के बाद भी नहीं जाता हूं।
   इसलिए आज भी पत्निया, पति से ज्यादा अपने पंडित, पुरोहित की बातो को ज्यादा तवज्जो देती हैं। इसलिए पाखंडी ब्रत, पूजा -पाठ, सत्संग और त्योहारों को लेकर कयी बार पतियों से मनमुटाव भी हो जाता है। कभी कभी तो सामाजिक प्रतिष्ठा को देखते हुए और पत्नी के जिद्द के आगे, पति बेचारे को मजबूरी में झुकना पड़ जाता है। इसलिए पाखंड और अंधविश्वास को बढ़ावा देने में घर की महिलाओं का बहुत बड़ा योगदान रहता है।
    पंडितो से शादी करवाना भी मानसिक गुलामी का सबसे बड़ा कारण है। यही नहीं, आज के इस भगवा युग में, पुरोहित पंडित कभी भी शूद्रो को अच्छा आशिर्वाद या शुभकामनाएं दे ही नहीं सकता। यदि आप ने उसके डिमांड के मनमाफिक दक्षिणा दे दिया तब तो कुछ गरीमत है, अन्यथा बर-बधू और पूरे परिवार को बद्ददुवाएं ही देता है। साथ ही साथ पाखंड, अंधविश्वास और ऊच-नीच की भावना भी परिवार में पैदा कर चला जाता है। इसलिए पंडितों से शादी -विवाह करवाना अपराध है।
    प्रमाण भी आप के सामने है, अभी अभी एक ब्राह्मण वीडियो के द्वारा, सवर्णों को एकजुट करने का आह्वान करते हुए सभी शूद्रो को सबक सिखाते हुए गोली से मारने तक की बात करते हुए देखा गया है। अभी भी ऐसे लोगों से आप शुभकामनाओं की उम्मीद करते हैं, तो आप बुजदिल है। 
       वहिष्कार! वहिष्कार! वहिष्कार!
 "गर्व से कहो हम शूद्र हैं" "शूद्र एकता मंच"
   आप के समान दर्द का हमदर्द साथी।
       शूद्र शिवशंकर सिंह यादव
       मो०- 7756816035